Republic Day Speech in Hindi and English

Republic Day Speech in Hindi 2019 (गतंत्र दिवस पर भाषण) (100 Words):

26 January Republic Day Speech in Hindi 2019 (गतंत्र दिवस पर भाषण) (200 Words):

Gantantra Diwas Speech in English 2019  (250 Words):

Short Speech on Republic Day (250 Words): The Republic Day Speech In English (26th January):  Very Good morning to all, Thanks for giving this huge opportunity on this wonderful day. My name is ________ and I am studying in class _____. As we know that, we have already gathered here on this very special occasion of our country called the Republic Day of India. Now, I would like to say something about the Republic Day of India. However, everyone knew about the Republic Day and why we celebrate our republic day. As we know we celebrate our republic day on 26 January every year from since 1950. Similarly, in this time we are gathered here to celebrate 69th Republic day of India. On 26th January 1950, the Indian constitution came into existence, so we celebrate 26th January as Republic day of India. Generally, Republic means the supreme power of the people who live in the country and the only public has the right to elect their political representatives or leader to strongly lead the whole nation in the right direction and also unit the all country including all the state, and city etc. So, we can say India is one of the most popular republic countries in all over the world where all the peoples are easily elect our political leaders as a president, prime minister, etc. In the past time, our great freedom fighters have huge struggled a lot to get our freedom back. So, we must be required to protect our freedom very strongly and also play some important role in the progress of our country. On this particular day we remember our freedom fighters and their huge contribution as well. On this day (26th January), before starting the Republic day we all stand up to salute our Indian national flag (Tiranga) and also sing our national anthem. Every year the prime minister of Indian is a chief guest for hosting the Indian flag at the Red Fort and then we celebrate our republic day. Thank All of You, Jai Hind, Jai Bharat.

Speech on Republic Day (300 Words): Republic Day Speech In English for Student

Very Good morning to all of you. My name is ______ and I am the students of class _____. Here, we have gathered to celebrate our one of the most popular and well known national festival of India. We talk about the Republic Day of India, it is very important day for us. But, first of all, I would like to thanks my all the teachers, Who gave me this wonderful opportunity to speak my self-governing on this great and wonderful occasion of Indian Republic Day. As we all know, on this particular and very special day the whole country celebrate the republic day festival.

Our country India is a self-governing nation in all over the world since 15th August 1947. Our nation got Independence from the British rule on 15th of August 1947 which we celebrate as Indian Independence Day. After a few years later on 26th of January 1950, our republic day came into existence that’s why on this day (26th of January) in every year we all celebrate the republic day of India. Similarly, in this year in 2019, we are celebrating our 69th republic day of India. The word of Republic means the supreme power of the people living in the country and they are fully right to choose their leader or political leader to represent the nation in thought global level. In the other word’s we can say India is one of the Republic country where the peoples elect the government and its representatives like the prime minister, presidents, and so many other leaders. Now, finally, I’m going to stop my speech thanks you so much and once again Happy Republic Day, Jai Hind.

Republic Day Speech in Hindi 2019 (गतंत्र दिवस पर भाषण) (550 Words):

आदरणीय प्रधानाध्यापक महोदय, समस्त अध्यापक अध्यापिका अतिथि, समस्त छात्र-छात्राएं एवं अभिभावक गण आप सभी का हमारे विद्यालय में हार्दिक अभिनंदन है | आज 26 जनवरी के राष्ट्रीय पर्व पर हम सभी यहां एकत्रित हुए हैं सर्वप्रथम मैं आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं देना चाहता हूं | आज हम अपने 69 गणतंत्र दिवस मना रहे हैं इस उपलक्ष में मैं प्रस्तुत कर रहा हूं मैं अपने समस्त गुरुजनों का आभार व्यक्त करता हूं | जिन्होंने कि मुझे यह अवसर प्रदान किया है | आज भारतवर्ष एक स्वतंत्र देश के रूप में विश्व पटल पर अपनी एक अनोखी छाप बनाने में लगातार अक्षर है हमारे देश का संविधान 26 जनवरी 1949 को अपनाया गया जो कि 26 जनवरी 1950 को पूर्ण रूप से लागू किया गया |

सर्वप्रथम हमें यह जाने की आवश्यकता है कि तंत्र का वास्तविक अर्थ क्या है, गणतंत्र शब्द से तात्पर्य है कि सभी देशवासियों के लिए एक समान रूप से व्यवस्था और कानून को स्थापित करना हमारे विभिन्न धर्मों को मानने वाले लोग रहते हैं और सभी को समान अधिकार प्राप्त हैं सभी नागरिक सर्वधर्म समभाव की भावना अपने मन में लिए हुए हैं | स्वतंत्रता के पश्चात देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद चुने गए | देश से आगे बढ़ने लगा आज भी हमारे देश में जनता सर्वोपरि है | हमारे देश में जनता ही तय करती है कि कौन सी राजनीतिक पार्टी और कौन से राजनीतिज्ञ हमारे देश का प्रतिनिधित्व करें | इसलिए हमें अपनी मताधिकार का सदुपयोग करना चाहिए जिससे कि देश को एक अच्छा नेतृत्व प्राप्त हो सके |
आज का पर्व हम सभी भारतीयों के लिए हर्षोल्लास का पर्व है | आज सभी भारतवासी उत्साह और उमंग के साथ गणतंत्र दिवस मनाते हैं | और अपने स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हुए अपनी श्रद्धा सुमन और श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं | विद्यालयों में गणतंत्र दिवस के दिन भव्य कार्यक्रम तथा झांकियां आयोजित की जाती है |

इसके अलावा 26 जनवरी के दिन दिल्ली में देश के प्रथम नागरिक प्रताप माननीय राष्ट्रपति जी की सवारी निकाली जाती है भारत की तीनों सेना जल सेना, वायु सेना, और थल सेना मार्च करती है | इसी दिन दिल्ली के लाल क्ले से भारत के माननीय प्रधानमंत्री जी ध्वजारोहण करते हैं | उसके बाद विभिन्न सांस्कृतिक आयोजन और झांकियां प्रस्तुत की जाती है | साथ ही साथ तीनों सेनाएं अपनी शक्ति का प्रदर्शन करती है |

26 जनवरी के उपलक्ष में देश के राष्ट्रपति तथा प्रधानमंत्री समस्त भारतवासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं तथा सभी को आपसी भाईचारे के साथ रहने की सलाह भी देते हैं | के संविधान को बनने में लगभग 2 वर्ष 11 माह और 18 दिन का समय लगा जिसे बनाने में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का सबसे बड़ा योगदान है |

भारतीय संविधान लागू होने के बाद हम सभी को को सारे अधिकार मिल गए जो कि एक स्वतंत्र देश में सभी लोग उम्मीद करते हैं | आता हम सभी को अपने अधिकारों का सही रूप से उपयोग करना चाहिए तथा देश को आगे बढ़ाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए | दों के साथ में अपने शब्दों को विराम देता हूं आशा करता हूं कि आप सभी को मेरी कही हुई बातें पसंद आई होंगी जय हिंद जय भारत |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *