Essay On Beti Bachao Beti Padhao in Hindi

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ हिंदी में (Quick Details about Beti Bachao Beti Padhao in Hindi)

beti bacho beti padhaoजैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कि देश की बेटियों की रक्षा और उनकी उन्नति के लिए निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए जब तक की वह सक्षम न हो जाए | इसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार समय-समय पर बेटियों की रक्षा के लिए और उनकी उन्नति के विभिन्न प्रकार की योजनाओं का शुभारंभ व उनको कार्यान्वित करती हैं | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारंभ माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने किया | जैसा कि हम जानते हैं कि प्रमुख रूप से सभी विद्यालयों में समय-समय पर निबंध प्रतियोगिता आयोजित की जाती है और विभिन्न विषयों पर निबंध लिखने को कहा जाता है | सामाजिक योजनाओं पर मैं समय पर निबंध लिखने को कहा गया है | अतः इसी बात को ध्यान में रखकर हम इस एक प्रमुख सामाजिक योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध उपलब्ध करवा रहे हैं | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर हिंदी में निबंध (Essay On Beti Bachao Beti Padhao in Hindi or Beti Bachao Beti Padhao Essay in Hindi)  विभिन्न कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए अलग अलग शब्द सीमा के अंतर्गत उपलब्ध करवा दिए गए हैं | हमें आशा है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ माध्यम से आप सभी लोग इस योजना को सफल बनाने में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान देंगे |

Essay On Beti Bachao Beti Padhao in Hindi (150 Words): बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध हिंदी:

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध हिंदी: पिछले कुछ सालों से हम यह स्लोगन बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सुनते और पढ़ते आ रहे हैं | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारंभ हमारे देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने किया | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना देश की बेटियों और उनकी उन्नति के लिए चलाया जा रहा है | जैसा कि हम जानते हैं कि सामाजिक योजनाओं पर स्कूलों और कॉलेजों में समय समय पर निबंध प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ महत्वपूर्ण योजना है और यदि आप किसी निबंध प्रतियोगिता के लिए तैयारी कर रहे हैं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध सामान्यत: पूछा जा सकता है | इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम यहां पर विभिन्न कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर बहुत ही आसान शब्दों में अलग अलग शब्द सीमाओं में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध हिंदी में उपलब्ध करवा रहे हैं | आशा करते हैं कि इस प्रकार के निबंध आपके आने वाली निबंध प्रतियोगिता मैं प्रदान करेंगे |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध हिंदी (Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi) (250 Words):

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना: बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारंभ भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 22 जनबरी 2015 को किया | इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि लड़कियों को बचाया जाए तथा उनको पढ़ाया लिखाया जाए क्यूंकि लडकिया हमारे समाज का एक महत्वपूर्ण भाग है | हमारे देश की आधी जानसंख्या महिलाओ की है ओर यदि हम चाहते है कि हमारा देश तेजी से विकास करे तो हमे देश की महिलाओं को उच्च एजुकेशन देनी होगी साथ ही साथ उन्हे आत्मनिर्भर भी बनाना होगा ताकि वे देश की तरक्की मे अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सके |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की आवश्यकता: जैसा कि हम जानते है कि सन् 2011 की जानगणना के अनुसार हमारे देश मे पुरसो की अपेक्षा महिलाओं की संख्या बहुत कम है दूसरे शब्दों मे हम कह सकते है कि महिलाओं और पुरसो के लिंगानुपात मे बहुत भिन्नता है | लिंगानुपात मे इतना अंतर अजन्मे बच्चे का लिंग का पता करना तथा कन्या भ्रूण हत्या करवाना है | बेटी के जनम के बाद भी उनके साथ आज के समय मे भी बहुत भेदभाव किया जाता है | ग्रामीण भागों मे तो लड़कियों के स्वास्थ्य, पोषण और एजुकेशन पर आज के समय मे भी कई तरह का भेदभाव किया जाता है इसी बात को ध्यान मे रखकर भारत सरकार समय समय पर बहुत सारे कार्यक्रम और योजनाए चलाती है जिनकी मदद से लड़कियों को भी समाज मे आगे बढ़ने का समान अवसर मिल सके और वे अपनी जिंदगी से जुड़े सारे फैसले स्‍वयं ले सके | इसके लिए लड़कियों को सही एजुकेशन और सही स्वास्थ्य और सही पोषण देना हम सबकी जिम्मेदारी बनती है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध हिंदी (Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi) (350 Words):

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ हिंदी में निबंध: जैसा कि हम सब लोग जानते हैं कि बेटी पढ़ाओ अभियान भारत सरकार द्वारा पिछले कुछ सालों से चलाया जा रहा है | यह एक बहुत ही अच्छी योजना है जिसके तहत भारत सरकार पूरे देश भर में लड़कियों को बचाने, शिक्षा देने, तथा लिंगानुपात को सामान्य बनाने के लिए चलाया जा रहा है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को घर द्वारा संचालित अन्य मंत्रालयों जैसे कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय मानव संसाधन कल्याण मंत्रालय भी अपना सहयोग दे रहे है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अंतर्गत निम्नलिखित कार्यक्रमों को शामिल किया गया है जिनमें से प्रमुख इस प्रकार हैं,

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अंतर्गत आंगनवाड़ी केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं का पंजीकरण करना तथा आंगनवाड़ी केंद्रों पर गर्भावस्था के पद स्थापित करना |

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य की जांच करने तथा उनकी स्वास्थ्य की तकनीकी रूप से देखरेख करने के लिए स्वास्थ्य केंद्रों में सभी प्रकार की तकनीकी सेवा उपलब्ध करवाना है |

मानव संसाधन और विकास मंत्रालय बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को सफल बनाने के लिए विद्यालयों में लड़कियों के लिए सभी प्रकार की आवश्यकताओं और सुविधाओं को उपलब्ध करवाना है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान का उद्देश्य: हम सभी जानते हैं कि भारत सरकार महिलाओं की उन्नति के लिए समय-समय पर विभिन्न प्रकार के अभियान चलाती है जिससे कि समाज में महिलाओं कोर सशक्त किया जा सके | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ महिलाओं को सशक्त करने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है | कुछ सालों पहले भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली बच्चियों को पढ़ा लिखा कर योग्य बनाना तथा उनको सशक्त बनाना ताकि वे समाज में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सके | बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान का मुख्य उद्देश्य बेटियों को बचाना तथा उनको शिक्षित करना है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत पूरे समाज में एक जागरूकता फैलाना भी है जिसकी मदद से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ रहे लिंगानुपात को सामान्य करना है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध हिंदी (Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi) (550 Words):

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ: आज के समय मे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना एक जन आंदोलन बन चुका है | सबसे पहले बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारंभ 22 जनवरी 2015 को हमारे देश के माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने की | इस योजना का शुभारंभ हरियाणा स्टेट से किया गया | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान का उदेश्य बेटियों को बचाने और उनको उच्च शिक्षा देना है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की आवश्यकता: जैसा कि हम जानते है कि पिछली जनगणना मे लड़को की अपेक्षा लड़कियों की संख्या मे बहुत अधिक अंतर सामने आया और यह एक बहुत गंभीर समस्या है दूसरे शब्दों मे हम कह सकते है कि लड़के और लड़कियों के लिंगानुपात मे बहुत अधिक अंतर सामने आया जिसको हल करने के लिए भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की | लड़के लड़कियों के लिंगानुपात मे बहुत बड़े अंतर के पीछे विभिन्न प्रकार के कारक है जिनमे से प्रमुख कुछ इस प्रकार से है |

  • कन्या भ्रूण हत्या
  • दहेज प्रथा
  • एजुकेशन की कमी
  • सामाजिक असुरक्षा
  • नौकरी की कमी और
  • पिता की संपत्तियों में बेटियों को हिस्सा नहीं मिलना आदि |

बिगत कुछ दसको मे बढ़ती हुई टेक्नोलॉजी के उपयोग से अजन्मे बच्चे का लिंग पता करके कन्या भ्रूण हत्या करने के बहुत अधिक मामले सामने आए है साथ ही साथ आर्थिक फायदो को ध्यान मे रखके भी लड़को के प्रति सामाजिक पक्षपात होता आ रहा है | प्राचीन समय से ही समाज मे एक प्रकार की अशिकछा फैली हुई है कि लड़कियों के साथ जनम से ही बहुत बड़ी जिम्मेदारी आती है जिसके कारण लिंगानुपात को बहुत नुकसान हो रहा है | आज के इस आधुनिक समय मे भी हमारे समाज मे लड़कियों के साथ बहुत भेदभाव होता रहता है लड़कियों को लड़को की अपेक्षा कमतर आंका जाता है | लड़कियों के साथ विभिन्न प्रकार से पक्षपात होता आ रहा है जैसे कि उनके साथ स्वास्थ्य संबंधी, पोषण संबंधी और एजुकेशन संबंधी पक्षपात आदि | अतः हम कह सकते है कि लड़कियों के साथ उनके जनम के साथ ही भेदभाव होना सुरू हो जाता है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान इन कुरीतियों को दूर करने तथा समाज को जागरूक करने के लिए भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारंभ किया गया है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को सफल बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम पूरे देशभर मे आयोजित किए गए है ओर आगे भी किए जाएंगे | इन विभिन्न कार्यक्रमों की मदद से समाज को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है ताकि समाज मे लड़के और लड़की मे भेदभाव को समाप्त किया जा सके | जैसा कि हम सभी जानते है कि यदि लडकियों को भी सही एजुकेशन और सही परबरिश दें तो लड़कियां भी लड़कियों के समान अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकती है और वैसे भी कोई भी समाज, देश बिना लड़कियों के कभी भी पूर्ण रूप से विकाश नहीं कर सकता है

सारांश (Conclusion) : जैसा कि हम पहले ही बता चुके है कि किसी भी समाज की कल्पना बिना लड़कियों के नहीं की जा सकती है | इसी बात को ध्यान मे रखते हुए भारत के माननिया प्रधानमंत्री जी ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की है और इस अभियान को सफल बनाने के लिए समय समय पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम और योजनाओं का शुभारंभ किया है

Long Essay On Beti Bachao Beti Padhao in Hindi (800 Words) बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध हिंदी:

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना: विगत कुछ सालों से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना पर बहुत अधिक ध्यान दिया जा रहा है इसके तहत महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, संसाधन मंत्रालय परिवार कल्याण मंत्रालय यह सभी मंत्रालय संयुक्त रूप से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ वीडियो के संरक्षण सशक्त करने के लिए अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का शुभारंभ 22 जनवरी 15 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा किया गया | जैसा कि हम जानते हैं कि हमारे देश में बहुत समय से ही महिलाओं का शोषण होता आ रहा है | साथ ही साथ महिलाओं के बहुत सारे अधिकारों को भी उनसे छीना जा रहा | ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग लड़कियों से ज्यादा लड़कों को महत्व देते हैं और यही सोच शहरों में रहने वाले लोगों में भी बहुत अधिक है | इन सभी लोगों का मानना है कि लड़की उनके परिवार को और उनकी आगे बढ़ाएंगे साथ ही साथ उनकी नीति में महत्वपूर्ण योगदान देंगे परिवार की आमदनी बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगे जबकि लड़कियों को केवल एक दायित्व समझा जाता है | इस वजह से लड़की के जन्म के समय ही उनकी हत्या कर दी जाती है | ग्रामीण क्षेत्रों में तो लड़कियों की छोटी आयु में विवाह कर दिया जाता है | हमारे देश में या एक गंभीर समस्या बनती जा रही है अतः इस तरह की गोरखनाथ बहुत ही आवश्यक है को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने समय-समय पर बहुत प्रकार के योजनाओं का अनावरण किया है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है जो कि समाज में फैली इन विभिन्न प्रकार की कुरीतियों को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगी | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लड़कियों को बचाना, शिक्षित करना और उनको सशक्त करना है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की विशेषताएं: यह योजना बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है योजना की मदद से बेटियों की सुरक्षा और उनकी शिक्षा को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे | इस समय हम भी पढ़ाओ योजना की कुछ विशेषताएं आपको बता रहे हैं जोकि इस योजना को सफल बनाएंगी |

बेटियों की सुरक्षा और उनकी शिक्षा के लिए समाज को जागरूक करना: हमारे देश में लड़कियों का अनुपात लड़कों के अनुपात की अपेक्षा बहुत कम है | छोटी छोटी बच्चों की सुरक्षा के लिए उनको शिक्षित करने के लिए उनके परिवारों को प्रोत्साहित करने का यह एक मजबूत प्रयास है | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मदद से लिंगानुपात बराबर करने, छोटी बच्चियों और उनके स्वास्थ्य संबंधित सहायता और जागरूकता फैलाने और इनको इसके प्रति उत्साहित करने के लिए प्रोत्साहित करने पर ध्यान दिया गया है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की देखरेख: जैसा कि हम जानते हैं कि बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत भारत सरकार द्वारा की गई है लेकिन भारत सरकार के अन्य मंत्रालयों द्वारा भी समर्थन प्राप्त है कार चाहिए बाल विकास मंत्रालय, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय | यह सभी मंत्रालय आपस में मिलकर इस योजना को सफल बनाने का प्रयास कर रहे हैं ताकि महिला भ्रूण हत्या और बाल विवाह जैसे अपराधों को समाज से दूर किया जा सके |

सुकन्या समृद्धि खाता: यह एक प्रकार की बचत योजना है इसमें एक खाता होता है जो कि छोटी बच्चियों के लिए खोला जाता है यहां बच्चियों के माता पिता और अपनी बेटियों के लिए पैसे की बचत करते हैं जिनका उपयोग वह उनकी शिक्षा में और विवाह के लिए कर सकते हैं | इस खाते में कोई भी टैक्स अवधि नहीं होती है |

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की प्रमुख उद्देश्य: इस योजना के प्रमुख उद्देश्य इस प्रकार से है,

  • पक्षपाती तरीके से लिंग चुनाव की प्रतिज्ञा का उन्मूलन
  • लड़कियों के अस्तित्व और उनकी स्वास्थ्य सुरक्षा को सुनिश्चित करना
  • लड़कियों की शिक्षा उनकी शिक्षा को बढ़ावा सुनिश्चित करना

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को सफल बनाने की रणनीतियां: बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को सफल बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की रणनीतियां भारत सरकार के द्वारा समय-समय पर आयोजित की जा रही है जिनमें से प्रमुख कुछ इस प्रकार से है\

  • ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में बालिकाओं को शिक्षा देने के लिए सामाजिक आंदोलन के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया |
    बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को सार्वजनिक विमर्श का विषय बनाना और इसके माध्यम से समाज को बालिकाओं के प्रति जागरूक करना |
  • देश के विभिन्न राज्यों और उनके जिलों जान जानकारी एकत्र करना जिनमें निम्न लिंगानुपात है उन राज्य विशेष ध्यान देते हुई बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन करना तथा जागरूकता फैलाना है |
  • इस योजना को सफल बनाने के लिए और इसमें जल्दी से परिवर्तन लाने के लिए विभिन्न प्रकार की स्थानीय महिला संगठन और युवाओं की सहभागिता लेना भी एक प्रमुख रणनीति है |

Essay On Beti Bachao Beti Padhao in Hindi (1000 Words)

Essay on Women Empowerment in Hindi

Essay on Women Empowerment in English

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *